Blogs


Home / Blog Details
    • cal12-November-2022 adminAkanksha Dubey

      लिवर डेटॉक्स ड्रिंक के लाभ और व्यंजन विधि

    • हमारा लीवर वह अंग है जो हमें स्वस्थ रखने में मदद करता है और यह हमारे शरीर के 500 से अधिक कार्यों का प्रवंधन करता है। यह प्राथमिक डिटॉक्स अंग के रूप में भी जाना जाता है, लीवर मेटाबॉलिज़्म, इम्यून सिस्टम, पाचन तंत्र और विषाक्त पदार्थों के डेटोक्सिफिकेशन  के समुचित कार्य के लिए आवश्यक है।

      आपके लीवर के महत्वपूर्ण कार्यों को देखते हुए, नियमित रूप से अपने लीवर को डिटॉक्स करके लीवर के स्वास्थ्य को बनाए रखना आवश्यक है। इसके अलावा, आप अपने लीवर को बेहतर ढंग से काम करने में मदद करने के लिए स्वादिष्ट डिटॉक्स ड्रिंक बना सकते हैं।

      विषयसूची

      1. लीवर को डिटॉक्सीफिकेशन की आवश्यकता क्यों होती है?

      2. विभिन्न प्रकार के लीवर डेटॉक्स जूस और रेसिपी

      3. आहार विशेषज्ञ की सलाह 

      4. निष्कर्ष 

      लीवर को डिटॉक्सीफिकेशन की आवश्यकता क्यों होती है?

      डिटॉक्सिफिकेशन क्या है और अपने शरीर को स्वस्थ कैसे रखें यह सबसे महत्वपूर्ण है जो सभी को पता होनी चाहिए। लीवर खुद को साफ करता है, और यह बेहतर है कि आप लीवर के लिए औषधीय डिटॉक्सीफिकेशन न अपनायें।

      सबसे अच्छी बात यह है कि अपने डाइट प्लान में हेल्दी जूस और डिटॉक्स ड्रिंक शामिल करें। प्राकृतिक डिटॉक्सीफिकेशन न केवल लाभ प्रदान करेगा बल्कि आपको तरोताज़ा भी रखेगा।

      लीवर हमारे शरीर में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और इसकी देखभाल करते समय महत्वपूर्ण ध्यान देने की आवश्यकता होती है। बालों के रोम, ब्लड सेल्स, स्किन सेल्स, उम्र बढ़ने की सामान्य समस्याओं आदि का कम होना भविष्य में महत्वपूर्ण समस्याएँ हो सकती हैं।

      ToneOp आपके लिए इन सभी चीज़ों का ध्यान रखता है और ज़रूरी बातों पर प्रकाश डालता है ताकि आप जान सकें कि लीवर डिटॉक्सीफिकेशन क्यों आवश्यक है।

      1. सैचुरेटेड और प्रोसेस्ड फ़ूड सा सेवन 

      सैचुरेटेड और प्रोसेस्ड फ़ूड को प्रोसेस करने के लिए, आपके लीवर को अतिरिक्त प्रयास करना चाहिए। यदि आप नियमित रूप से मकई या मूंगफली के तेल जैसे प्रोसेस्ड फैट का सेवन करते हैं या तला हुआ भोजन करते हैं, तो आप कल्पना कर सकते हैं कि यह आपके लीवर के लिए कितना हानिकारक है। इन खाद्य पदार्थों को पचाना मुश्किल होता है और आपके लीवर को नुकसान पहुंचाने वाले जहरीले उपोत्पादों को ख़त्म करने में समय लगता है।

      2. प्रदूषित वायु में साँस लेंना 

      जिस हवा में हम साँस लेते हैं उसमें बहुत दूसित पदार्थ होते हैं। अधिक गाड़ियों के चलने और उनके संपर्क में आने से, सेकेंडहैंड स्मोक से और अन्य औद्योगिक उत्त्पादों द्वारा आपके लंग्स और लीवर को नुकसान पहुँचता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि आपका लीवर आपके लंग्स से साँस लेने वाले विषाक्त पदार्थों को भी प्रोसेस करता है। आप जिस जहरीली हवा में साँस लेते हैं, वह आपके लीवर पर दबाव डालती है और इसलिए आपको डेटोक्सिफिकेशन की आवश्यकता होती है।

      3. प्रोसेस्ड कार्बोहाइड्रेट का सेवन  

      प्रोसेस्ड फूड आपके लीवर को प्रभावित कर सकते हैं। प्रोसेस्ड कार्बोहाइड्रेट शुगर डिंक्स, वाइट ब्रेड , पास्ता और कैंडी में पाए जाते हैं। जब आप इन खाद्य पदार्थों को प्रोसेस्ड कार्बोहाइड्रेट में उच्च मात्रा में खाते हैं, तो आपके ब्लड शुगर के स्तर को स्थिर रखने और विषाक्त पदार्थों को आपके सिस्टम से बाहर रखने के लिए आपके लीवर को अधिक मेहनत करनी पड़ती है।

      4. अपर्याप्त नींद

      खूबसूरत त्वचा के लिए आपको न सिर्फ पर्याप्त नींद की जरूरत होती है, बल्कि यह भी ज़रूरी है, ताकि आपका लीवर सही तरीके से काम कर सके। ठीक से काम करने के लिए पर्याप्त समय पाने के लिए जब तक आपका लीवर पाचन शुरू करता है, तब तक आपको 8 घंटे की गहरी नींद लेने की जरूरत है। इसलिए, आपके लीवर को ठीक से काम करने के लिए पर्याप्त आराम मिलना जरूरी है।

      विभिन्न प्रकार के लीवर डेटॉक्स जूस और रेसिपी

      कुछ फलों और सब्ज़ियों में विशिष्ट पोषक तत्व होते हैं जो हमारे लीवर के स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक फायदेमंद होते हैं। फलों और सब्ज़ियों से निकाले गए कुछ ऐसे रस इस प्रकार हैं:

      1. स्पिनच पार्स्ली जूस 

      • "लिवर प्यूरीफायर" डिटॉक्स जूस चुकंदर, गाजर, खीरा, अजवाइन, पालक, पार्स्ली और नींबू का एक स्वादिष्ट मिश्रण है और विटामिन और एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होता है। यह जूस शरीर के प्राकृतिक डेटोक्सिफिकेशन प्रक्रिया को पुनर्जीवित करने में मदद करने के लिए एक उत्कृष्ट टॉनिक है।

      सामग्री

      • चुकंदर- ½ भाग
      • खीरा- ½ भाग
      • गाजर- 2, मध्यम
      • अजवाइन- 3 डंठल
      • पालक- 1 बड़ी मुट्ठी
      • पार्स्ली- 1 मुट्ठी
      • नींबू का रस- ½ मध्यम

      व्यंजन विधि

      1. चुकंदर, खीरा, गाजर, सेलेरी, पालक और पार्स्ली को जूसर में डालकर ब्लेंड करें।

      2. नींबू का रस निचोड़ें, मिश्रण में डालें और मिलाएँ।

      4. तुरंत सर्व करें!

      पोषण का महत्व

      • एक सर्विंग के अनुसार:
      • कैलोरी- 152kcal
      • कार्बोहाइड्रेट- 33.9g
      • प्रोटीन- 7.6g
      • फैट- 0.9g
      • सोडियम- 199.3mg
      • पोटेशियम- 2251.8mg
      • शुगर - 15.6g

      2. ककड़ी का रस

      एल्कलाइन और हाइड्रेशन से भरपूर, खीरे का रस शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है। यह एसिडिटी, असंतोष, गैस्ट्राइटिस, अपच और अल्सर जैसी पाचन समस्याओं को भी कम कर सकता है।

      सामग्री

      • खीरा- 1 टुकड़ा 
      • चुकंदर - 1 साफ़ किया हुआ
      • धुली हुई मिश्रित हरी सब्ज़ियाँ (पुदीना, अजवाइन, पालक, पार्स्ली) - मुट्ठी भर
      • सेब-1, मध्यम
      • नींबू का रस- 1 छोटा चम्मच
      • हल्दी- 1 चम्मच

      व्यंजन विधि

      1. सभी सब्ज़ियों को धोकर छील लें और काट लें।

      2. सभी को एक साथ ब्लेंड करें।

      3. एक गिलास में डालकर सर्व करें!

      पोषण का महत्व

      एक सर्विंग के अनुसार:

      • कैलोरी- 171kcal
      • फैट- 1g
      • सोडियम- 158mg
      • पोटेशियम- 1195mg
      • कार्बोहाइड्रेट- 43g
      • फाइबर- 9g
      • शुगर - 26g
      • प्रोटीन- 5g
      • विटामिन सी- 81% D V (दैनिक मूल्य)
      • विट ए- 56% D V 
      • आयरन- 15% D V 
      • कैल्शियम- 12% D V 

      3. चुकंदर का जूस 

      चुकंदर के जूस में विटामिन सी, पोटैशियम और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होते हैं। अतिरिक्त लाभ प्राप्त करने के लिए आप चुकंदर को अन्य सब्जियों के साथ भी मिला सकते हैं।

      सामग्री

      • चुकंदर -1, मध्यम
      • सेब-1, मध्यम
      • अजवाइन- ½ कप
      • खीरा- आधा कटा हुआ 
      • पुदीने के पत्ते

      व्यंजन विधि

      1. सभी सामग्री को जूसर में मिलाएं और स्मूद होने तक ब्लेंड करें।

      2. छन्नी की सहायता से छान लें और जूस सर्व करें। 

      इस जूस का नियमित सेवन आपके लीवर में डिटॉक्सिफिकेशन एंजाइम को बढ़ाता है।

      पोषण का महत्व

      एक सर्विंग के अनुसार:

      • प्रोटीन- 1.7g
      • कार्ब्स- 17.8g
      • फाइबर- 6.6g
      • कैलोरी- 81kcal

      4. संतरे का जूस 

      एक और स्वस्थ ड्रिंक जिसे आप लीवर डिटॉक्सीफिकेशन के लिए अपने आहार में शामिल कर सकते हैं, वह है संतरे का रस। संतरे के रस में विटामिन सी और पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है, जो लीवर की कोशिकाओं को विषाक्त पदार्थों से बचाता है। इस डिटॉक्स ड्रिंक के लिए आवश्यक सामग्री निम्नलिखित हैं:

      सामग्री

      • संतरा- 1, मध्यम
      • टमाटर - 1, मध्यम
      • मूली- आधा भाग
      • गाजर- 1, मध्यम

      व्यंजन विधि

      1. सभी सामग्री को काट कर जूसर में डाल दें। अच्छी तरह मिक्स होने तक ब्लेंड करें।

      2. जूस को छान लें और जूस सर्व करें।

      संतरे किडनी की पथरी को रोकने में मदद करते हैं, जबकि गाजर में डिटॉक्सीफाइंग गुण होते हैं जो पाचन में सहायता करते हैं और कब्ज़ को रोकते हैं।

      पोषण का महत्व

      एक सर्विंग के अनुसार:

      • कैलोरी- 19kcal
      • कार्बोहाइड्रेट- 4g
      • प्रोटीन- 1g
      • फैट- 1g
      • सैचुरेटेड फैट- 1g
      • सोडियम- 32mg
      • पोटेशियम- 170mg
      • फाइबर- 1g
      • शुगर - 2 ग्राम
      • विटामिन ए- 5351IU
      • विटामिन सी- 7mg
      • कैल्शियम- 18mg
      • आयरन- 1mg

      5. नींबू का जूस 

      नींबू डेटोक्सिफिकेशन के लिए सबसे सस्ते फलों में से एक है। नींबू पानी पीकर हम तरोताज़ा महसूस करते हैं, और नींबू का रस आपके लीवर को स्वस्थ रखने का एक बेहतरीन तरीका है। इसके अलावा, हल्दी और नींबू का रस आपके लीवर को डिटॉक्स करते हुए सूजन-रोधी लाभ प्राप्त करता है।

      सामग्री

      • नीबू-1 छोटा
      • शहद- 2 चम्मच
      • हल्दी- ½ छोटा चम्मच

      व्यंजन विधि

      • 1. ब्लेंडर में छिले हुए नींबू को डालें।
      • 2. ब्लेंड करके एक गिलास में डालें और इसके ऊपर शहद और हल्दी डालें। ठंडा सर्व करने के लिए बर्फ के साथ परोसें।

      नींबू का रस गर्मी के दिनों में आपको और आपके मेहमानों के लिए भी एक बेहतरीन रिफ्रेशमेंट ड्रिंक है।

      पोषण तत्त्व का महत्व

      एक सर्विंग के अनुसार:

      • कैलोरी- 16 Kcal
      • कार्बोहाइड्रेट- 4g
      • प्रोटीन- 0.1g

      आहार विशेषज्ञ की सलाह 

      यदि आप लीवर को साफ करने वाले जूस को आजमाना चाहते हैं तो ToneOp डिटॉक्स जूस शुरू करने के लिए एक बेहतरीन प्लेटफार्म है। ये जूस एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन सी, ए, सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम और आयरन से भरपूर होते हैं, और लीवर को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं। यह स्वादिष्ट और ताज़े भी है, जो इसे दिन की शुरुआत या कसरत के बाद बॉडी रिचार्ज करने में मदद करते हैं।

       

                                                                                               - आहार विशेषज्ञ लवीना चौहान

      निष्कर्ष 

      डिटॉक्स ड्रिंक्स समग्र स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छी होती हैं, लेकिन विशिष्ट अंगों के लिए डिटॉक्स ड्रिंक्स अद्भुत काम कर सकती हैं। उदाहरण के लिए, लीवर डिटॉक्सिफिकेशन हमारे लीवर को विषाक्त पदार्थों को फिर से प्रोसेस करने के लिए जगह बनता है।

      एक बार प्रोसेसिंग हो जाने के बाद, उन्हें किडनी और ब्लड को समाप्त करने के लिए लिम्फेटिक सिस्टम में छोड़ दिया जाता है। बॉटम लाइन यह है कि बेहतर तरीके से काम करने और लंबे समय तक स्वस्थ रहने के लिए अपने लीवर को होममेड डिटॉक्स जूस के साथ आवश्यक देखभाल प्रदान करें।

      पालक में एंटीऑक्सीडेंट होता है। यह लीवर को ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाता है। वहीं, केल में फाइटोकेमिकल्स होते हैं जो डिटॉक्सीफिकेशन में मदद करते हैं। अजवाइन लीवर एंजाइम और ब्लड में फैट के लेवल को नियंत्रित करता है

      Toneop के बारे में

      TONEOP एक ऐसा मंच है, जो लक्ष्य-उन्मुख आहार योजनाओं और व्यंजनों की एक विस्तृत श्रृंखला के माध्यम से आपके अच्छे स्वास्थ्य को बेहतर बनाने और बनाए रखने के लिए समर्पित है। यह हमारे उपभोक्ताओं को मूल्य वर्धित सामग्री प्रदान करने का भी इरादा रखता है।

      हमारे आहार योजनाओं, व्यंजनों और बहुत कुछ तक पहुंचने के लिए Toneop डाउनलोड करें।

      Android user- https://bit.ly/ToneopAndroid

      Apple user-   https://apple.co/38ykc9H

Your email address will not be published. Required fields are marked *

left img right img