Sore Throat Vs Tonsillitis Vs Strep Throat ! जानिए गले की इन 3 समस्याओं के बीच अंतर।

Hindi

Updated-on

Published on: 22-Jun-2024

Min-read-image

10 min read

views

148 views

profile

Vishalakshi Panthi

Verified

Sore Throat Vs Tonsillitis Vs Strep Throat ! जानिए गले की इन 3 समस्याओं के बीच अंतर।

Sore Throat Vs Tonsillitis Vs Strep Throat ! जानिए गले की इन 3 समस्याओं के बीच अंतर।

share on

  • Toneop facebook page
  • toneop linkedin page
  • toneop twitter page
  • toneop whatsapp page

क्या आपको कभी मौसम बदलने पर गले में खराश या असुविधा महसूस हुई है? यह एक आम समस्या है, मौसम में परिवर्तन होने पर आपके गले में दर्द होता है और गटकने में समस्या होती है। ऐसा खासकर सर्दियों के मौसम में होता है। ये समस्या गले में खराश, टॉन्सिलाइटिस या स्ट्रेप थ्रोट की स्थिति हो सकती है। इन समस्याओं के अंतर समझना बहुत ज़रूरी है, जिससे आप गले की परेशानियों से जल्दी निजात पा सकेंगे। 


गले की इन समस्याओं के विभिन्न कारण और लक्षण होते हैं। गले में खराश का कारण साधारण सी सर्दी हो सकती है। वहीं टॉन्सिलाइटिस का कारण वायरल और बैक्टीरियल इंफेक्शन हो सकता है। स्ट्रेप थ्रोट का मुख्य कारण जीवाणु होते हैं। हर समस्या अपने लक्षण लेकर आती है, जैसे लाल और सूजे हुए  टॉन्सिल्स टॉन्सिलाइटिस का लक्षण हैं। अचानक से गले में गंभीर दर्द होना स्ट्रेप थ्रोट का लक्षण है। गले की इन सभी समस्याओं के लक्षण और कारण सही से समझने के लिए इस ब्लॉग को पूरा पढ़ें। 

विषय सूची 

  1. स्ट्रेप थ्रोट, सोर थ्रोट और टॉन्सिलाइटिस को कैसे पहचानें? 

  2. गले की समस्या से बचाव के क्या तरीके अपनाने चाहिए?

  3. आहार विशेषज्ञ की सलाह 

  4. निष्कर्ष 

  5. सामान्य प्रश्न 

  6. संदर्भ

स्ट्रेप थ्रोट, सोर थ्रोट और टॉन्सिलाइटिस को कैसे पहचानें? 

स्ट्रेप थ्रोट और आम गले की खराश के बीच अंतर करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है क्योंकि दोनों ही समस्याओं में कई लक्षण एक समान होते हैं। हालांकि, दोनों समस्याओं के कुछ खास लक्षण होते हैं जो स्ट्रेप थ्रोट और गले की खराश में अंतर करने में मदद कर सकते हैं। इन लक्षणों को समझ कर आप सही इलाज ले सकते हैं। 

ये भी पढ़ें- मौसमी इन्फ्लूएंजा: लक्षण, कारण, सावधानियां, उपचार और घरेलू उपचार

  • स्ट्रेप थ्रोट के लक्षण 

स्ट्रेप थ्रोट एक जीवाणुओं का संक्रमण है जो कि स्ट्रेप्टोकोकस पायोजीन्स से होता है। इसके लक्षण कुछ इस प्रकार होते हैं- 

लक्षण 

विवरण 

गले में गंभीर खराश होना

इस स्थिति में दर्द जल्दी शुरू होता है और यह दर्द गंभीर होता है।

लाल और सूजे हुए टॉन्सिल्स 

इसमें सफेद धब्बे और मवाद होती है। 

मुंह में लाल धब्बे 

मुंह के ताल पर छोटे-छोटे लाल धब्बे होते हैं। 

गटकने में दर्द 

खाना या कुछ भी गटकने में समस्या होना जिससे गले में दर्द होता है। 

तेज़ बुखार 

खासकर 101°F (38.3°C) या उससे ज़्यादा बुखार आना। 

लिम्फ नोड्स में सूजन 

गले के क्षेत्र में सूजन आसानी से देखी जा सकती है। 

सिर दर्द 

स्ट्रेप थ्रोट के साथ सिर में दर्द होना।  

मतली या उल्टी 

आम तौर पर स्ट्रेप थ्रोट से ग्रस्त बच्चों में देखा जाता है। 

शरीर में दर्द

सामान्य थकान और असुविधा का अनुभव होना 

ये भी पढ़ें- वयस्कों में स्ट्रेप थ्रोट: लक्षण, निदान, उपचार विकल्प और रोकथाम रणनीतियाँ

  • वायरल सोर थ्रोट के लक्षण 

सोर थ्रोट में आपको गले में खराश और जलन होती है, जिससे बात करने और गटकने में दर्द होता है। यह आमतौर पर सामान्य से वायरल इंफेक्शन जैसे सर्दी या फ्लू से होता है। हालांकि सोर थ्रोट थोड़े दिन में ठीक भी हो जाता है। सोर थ्रोट के लक्षण जानिए- 

लक्षण 

विवरण 

क्रमिक शुरुआत 

इसमें लक्षण स्ट्रेप थ्रोट से धीरे विकसित होते हैं।

खांसी 

इसमें लगातार खांसी आना आम बात है। 

बहती नाक 

नाक बंद होना और स्राव होना आम बात है। 

कर्कशता

आपकी आवाज़ कर्कश हो सकती है। 

हल्का बुखार 

इसमें तापमान 101°F (38.3°C) से कम होता है। 

कंजक्टीवाइटिस 

कुछ वायरस आंख में लाली और असहजता का कारण हो सकते हैं। 

थकान और मांसपेशियों में दर्द

कई वायरल इन्फेक्शन में शरीर में थकान और मांसपेशियों में दर्द होना आम बात है। 

गले में खराश 

स्ट्रेप थ्रोट के मुकाबले कम होती है। 

  • टॉन्सिलाइटिस के लक्षण  

यह दो लिम्फ नोड्स का संक्रमण है जो आपके गले के पीछे होते हैं। इन लिम्फ नोड्स को टॉन्सिल्स कहते हैं। टॉन्सिलाइटिस का कारण वायरस और बैक्टीरिया दोनों होते हैं। 

लक्षण 

विवरण 

सूजे हुए टॉन्सिल्स 

आपके टॉन्सिल्स लाल हो जाते हैं और सूज जाते हैं। इनमें सामान्यतया सफेद और पीले धब्बे हो जाते हैं। 

गंभीर गले की खराश

सामान्य थ्रोट के मुकाबले टॉन्सिलाइटिस में अधिक दर्द होता है। 

गटकने में दर्द होना 

इसमें खाने या पीने की किसा भी चीज़ को गटकने में बहुत दर्द होता है। 

बुखार 

आम वायरल वाले सोर थ्रोट के मुकाबले अधिक बुखार आता है।

लिम्फ नोड्स में सूजन 

लिम्फ नोड्स आपके गले में पीछे की ओर होते हैं, इसलिए आपके गले में सूजन आती है और दर्द होता है।

बदबूदार सांस 

संक्रमण के कारण आपकी श्वास से बदबू आती है।

सिर दर्द 

टॉन्सिलाइटिस में संक्रमण के कारण सिर दर्द भी होता है। 

कानों में दर्द 

आपके टॉन्सिल में होने वाला दर्द कानों तक भी पहुंच जाता है। 

थकान 

थकान और अस्वस्थता की आम भावना होना।

आवाज़ में बदलाव

सूजे टॉन्सिल्स के कारण गले से सही से आवाज़ ना निकलना या भारी आवाज़ आना। 

ये भी पढ़ें- 10 Symptoms Of Tonsils In The Throat, Accompanying Diseases And Treatment Options

गले की समस्या से बचाव के क्या तरीके अपनाने चाहिए?

सोर थ्रोट, स्ट्रेप थ्रोट और टॉन्सिलाइटिस के बीच अंतर जानने के बाद अब चलिए इसके बचाव के बारे में जानते हैं। 

  • स्वच्छता का ध्यान रखें- दिन में बार-बार हाथों को धोएं, बीमार व्यक्ति के ज़्यादा करीब जाने से बचें।  

  • स्वस्थ जीवनशैली- इम्यून सिस्टम के समर्थन के लिए पौष्टिक आहार का सेवन करें, हाइड्रेटेड रहें और आराम लेते रहें। 

  • असुविधाजनक पदार्थों का सेवन ना करें-  शराब और धूम्रपान के सेवन से बचें और प्रदूषण से स्वयं की रक्षा करें। 

विशेषज्ञ की सलाह 

गले में खराश इन तीनों का एक लक्षण हो सकता है, टॉन्सिल में सूजन और कोमलता अक्सर टॉन्सिलिटिस या स्ट्रेप थ्रोट की ओर इशारा करती है। यदि गले में खराश अचानक टॉन्सिल पर सफेद मवाद के धब्बे के साथ आती है, तो स्ट्रेप थ्रोट से बचने के लिए डॉक्टर को दिखाना सबसे अच्छा है, क्योंकि जटिलताओं को रोकने के लिए एंटीबायोटिक दवाओं की आवश्यकता होती है।

 हेल्थ एक्सपर्ट 

अदिति उपाध्याय 

निष्कर्ष

गले की खराश, टॉन्सिलाइटिस और स्ट्रेप थ्रोट के अंतर को समझना बहुत महत्वपूर्ण है। इससे आप गले की तीनों समस्याओं का सही उपचार कर पाएंगे। यह समस्या ज़्यादा समय तक रहें तो गंभीर समस्या पैदा कर सकती हैं, इसलिए ज़्यादा समय गले की समस्या होने पर डॉक्टर की सलाह लेना आवश्यक है। इसके अतिरिक्त संक्रमण से बचने के लिए अपनी आदतों में हाथों को बार-बार धोना, साफ सांस लेना, प्रदूषण से बचाव, धूम्रपान और शराब का त्याग करना, स्वच्छ और पौष्टिक भोजन लेना शामिल करें। 

सामान्य प्रश्न 

1. सोर थ्रोट, स्ट्रेप थ्रोट और टॉन्सिलाइटिस में क्या अंतर है?

सोर थ्रोट गले दर्द की एक आम समस्या है, स्ट्रेप थ्रोट में स्ट्रेप्टोकोकस के कारण गले में संक्रमण हो जाता है और टॉन्सिलाइटिस में आपके टॉन्सिल्स में संक्रमण के कारण सूजन हो जाती है जिससे दर्द होता है। 


2. कैसे पता करें कि सोर थ्रोट है या टॉन्सिलाइटिस?

यदि आपके गले के दर्द के साथ, सूजन, लाल टॉन्सिल के साथ सफेद धब्बे हैं (धब्बे नहीं भी हो सकते हैं) तो ये टॉन्सिलाइटिस की समस्या हो सकती है। सोर थ्रोट में आपके टॉन्सिल की कोई भी समस्या शामिल नहीं होती है। 

संदर्भ

टोनऑप क्या है?

ToneOp  एक हेल्थ एवं फिटनेस एप है जो आपको आपके हेल्थ गोल्स के लिए एक्सपर्ट द्वारा बनाये गए हेल्थ प्लान्स प्रदान करता है।  यहाँ 3 कोच सपोर्ट के साथ-साथ आप अनलिमिटेड एक्सपर्ट कंसल्टेशन भी प्राप्त कर सकते हैं। वेट लॉस, मेडिकल कंडीशन, डिटॉक्स और फेस योगा प्लान की एक श्रृंखला के साथ, ऐप प्रीमियम स्वास्थ्य ट्रैकर, रेसिपी और स्वास्थ्य सम्बन्धी ब्लॉग भी प्रदान करता है। अनुकूलित आहार, फिटनेस, प्राकृतिक चिकित्सा और योग प्लान प्राप्त करें और ToneOp के साथ खुद को बदलें।

Subscribe to Toneop Newsletter

Simply enter your email address below and get ready to embark on a path to vibrant well-being. Together, let's create a healthier and happier you!

Download our app

Download TONEOP: India's Best Fitness Android App from Google Play StoreDownload TONEOP: India's Best Health IOS App from App Store

Comments (0)


Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Explore by categories