तनाव प्रकार के सिरदर्द (Tension Type Headache) के कारण, लक्षण और उपचार!

Hindi

Updated-on

Published on: 15-Jun-2024

Min-read-image

10 min read

views

95 views

profile

Vishalakshi Panthi

Verified

तनाव प्रकार के सिरदर्द (Tension Type Headache) के कारण, लक्षण और उपचार!

तनाव प्रकार के सिरदर्द (Tension Type Headache) के कारण, लक्षण और उपचार!

share on

  • Toneop facebook page
  • toneop linkedin page
  • toneop twitter page
  • toneop whatsapp page

सर दर्द एक आम समस्या है जिससे लगभग हर दूसरा व्यक्ति परेशां है। अक्सर सिरदर्द थकान, बुखार, सर्दी ज़ुखाम, या मीग्रैन के कारन होता है। लेकिन कई बार बिना इन कारणों के अचानक सर में दर्द होने लगता है जिसे टेंशन टाइप हेडेक कहते हैं। यह दर्द आमतौर पर सिर के निचले हिस्से, गर्दन, आंखों या शरीर के अन्य मांसपेशी समूहों से फैलता है जो आमतौर पर सिर के दोनों तरफ़ को प्रभावित करता है। तनाव-प्रकार के सिरदर्द सभी सिरदर्दों का लगभग 90% हिस्सा होते हैं। इस हेडेक के कारण तनाव, सर और गर्दन की मांसपेशियों में जकड़न आदि हो सकते हैं।  

यह एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक आपको मसल्स में स्ट्रेस आने पर कभी भी उठ सकता है। यह सिर दर्द एक बिन बुलाए मेहमान की तरह होता है। जो आपकी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में दखल देता है। हालांकि यह बहुत अधिक चिंताजनक या घातक नहीं होता। यदि आपको सिर दर्द के ट्रिगर होने के कारण पता हों तो हम इसका सही इलाज कर सकते हैं। इस ब्लॉग में हम टेंशन टाइप हेडेक के कारण, लक्षण और उपचार के बारे में जानेंगे। 

विषय सूची 

  1. टेंशन टाइप हेडेक का कारण क्या है?

  2. एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक के लक्षण क्या हैं?

  3. ETTH/TTH को कैसे नियंत्रित किया जाता है?

  4. आहार विशेषज्ञ की सलाह

  5. निषकर्ष

  6. सामान्य प्रश्न

  7. संदर्भ

टेंशन टाइप हेडेक का कारण क्या है?

टेंशन टाइप हेडेक के मुख्य कारणों में मानसिक, भावनात्मक और शारीरिक तनाव हो सकता है। इससे गर्दन और सिर में दर्द होता है। ज़्यादा समय तक गलत पोश्चर में बैठे रहने से मांसपेशियों में दर्द होता है जिससे एपीसोडिक टेंशन टाइप हेडेक (ETTH) की समस्य हो सकती है। इसमें डिजिटल आई स्ट्रेन (कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम), थकान और स्ट्रेस ईटिंग डिसऑर्डर भी शामिल हैं। इसके अलावा जेनेटिक्स भी टेंशन टाइप हेडेक का कारण हो सकते हैं। हालांकि यह दर्द माइग्रेन से बिल्कुल अलग होता है। इसमें आपकी नर्व्स या ब्लड वेसल में दर्द नहीं बनता है। 

ये भी पढ़ें- क्रोनिक थकान सिंड्रोम: प्रकार, लक्षण, कारण और उपचार

एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक के लक्षण क्या हैं?

एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक में हल्के से सामान्य गति का दर्द होता है। इसमें आपके सिर में तनाव और कमज़ोरी का एहसास होता है। एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक में आपके सिर के दोनों तरफ दर्द होता है। माइग्रेन की तरह इसमें आपके सिर में झनझनाहट नहीं होती। हालांकि ETTH मेंआपको रोशनी और तेज़ आवाज़ से समस्या हो सकती है। यह दर्द 30 मिनट से कुछ घंटों का हो सकता है। साथ ही यह महिने में 15 दिन से कम समय तक रहता है। 

ETTH/TTH को कैसे नियंत्रित किया जाता है? 

एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक या टेंशन टाइप हेडेक को नियंत्रित करने के लिए आपको मेडिकेशन की सहायता और लाइफस्टाइल में बदलाव लाने होंगे। आइए इन्हें गहराई से जानते हैं

  1. जीवन शैली में बदलाव

जीवन शैली में बदलाव करने के लिए डीप ब्रीदिंग यानी गहरी सांस लेने को शामिल करें। इसके लिए टार्गेटेड डायफ्रेगमेटिक ब्रीदिंग, योग, ध्यान लगाना और शांति मेें रहने जैसे तरीक अपनाने होंगे। इससे आप स्ट्रेस कम लेंगे और एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक कम करने में मदद मिलेगी। साथ ही फिजिकल एक्टिविटीज़ को भी अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।  

  1. ज़रूरत पढ़ने पर दवा लें

एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक के लिए आइबुप्रोफेन, एस्पिरिन या एसिटामिनोफेन दवा ले सकते हैं। हालांकि, इन दवाओं को डॉक्टर की गाइडेंस में लेंगे तो किसी भी साइड इफेक्ट्स से बचे रहेंगे। 

  1. निवारक रणनीति

जिन्हें निरंतर एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक होता है वे ट्राइसाइक्लिक एंटीडिप्रेज़ेंट या मसल रिलैक्सेंट की सहायता ले सकते हैं। इसके अलावा कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी भी आपके स्ट्रेस मैनेजमेंट में मददगार साबित हो सकती है। 


ये भी पढ़ें- घर पर करने के लिए संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी के 5 चरण

  1. अल्टर्नेटिव थेरेपी 

एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक से बचाव के लिए मसाज थेरेपी, एक्यूपंक्चर और बायोफीडबैक की सहायता भी ले सकते हैं। यह थेरेपी आपको तनाव से लड़ने में और ETTH कम करने में सहायता करेंगी।

आहार विशेषज्ञ की सलाह

अपने डाइट प्लान में फल, सबज़ियां, साबुत अनाज और लीन प्रोटीन को एड करें। यह एपिसोडिक टाइप हेडेक से आराम दिलाने में आपकी मदद करेगा। शांत रहें और अपना मील स्किप ना करें। साथ ही कैफीन और अल्कोहल के इनटेक को कम कर दें। यदि सिर दर्द बढ़ता है तो चिकित्सक की सहायता लें, जिससे कारणों का पता लगे और सेल्फ ट्रीटमेंट में आसानी हो। 


                                                                                                             डॉ. अक्षता गाडवेकर

निष्कर्ष

टेंशन टाइप हेडेक में आपको सिर में दोनों ओर हल्का दर्द बना रहता है। इसका कारण तनाव और गलत बॉडी पोश्चर में सोना या बैठना और ज्यादा स्क्रीन टाइम होता है। इन कारणों को समझते हुए आप टेंशन टाइप हेडेक से बचाव कर सकते हैं। यदि समस्या बढ़े या निरंतर दर्द बना रहे तो डॉक्टर को दिखाएं। हेल्थकेयर प्रोफेशनल आपको सही उपचार देने में सहायता करेंगे।  

सामान्य प्रश्न

1. टेंशन हेडेक के लिए क्या खाना अच्छा होगा?

टेंशन टाइप हेडेक के लिए आपको मैग्नीशियम युक्त भोजन लेना चाहिए। जैसे-

  1. नारियल का पानी

  2. बादाम

  3. खजूर


2. क्या एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक का इलाज संभव है?

एपिसोडिक टेंशन टाइप हेडेक को दवाओं से नियंत्रित किया जा सकता है। 

संदर्भ

ToneOp क्या है?

ToneOp  एक हेल्थ एवं फिटनेस एप है जो आपको आपके हेल्थ गोल्स के लिए एक्सपर्ट द्वारा बनाये गए हेल्थ प्लान्स प्रदान करता है।  यहाँ 3 कोच सपोर्ट के साथ-साथ आप अनलिमिटेड एक्सपर्ट कंसल्टेशन भी प्राप्त कर सकते हैं। वेट लॉस, मेडिकल कंडीशन, डिटॉक्स और फेस योगा प्लान की एक श्रृंखला के साथ, ऐप प्रीमियम स्वास्थ्य ट्रैकर, रेसिपी और स्वास्थ्य सम्बन्धी ब्लॉग भी प्रदान करता है। अनुकूलित आहार, फिटनेस, प्राकृतिक चिकित्सा और योग प्लान प्राप्त करें और ToneOp के साथ खुद को बदलें।

Subscribe to Toneop Newsletter

Simply enter your email address below and get ready to embark on a path to vibrant well-being. Together, let's create a healthier and happier you!

Download our app

Download TONEOP: India's Best Fitness Android App from Google Play StoreDownload TONEOP: India's Best Health IOS App from App Store

Comments (0)


Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Explore by categories